Thursday, December 13, 2018
"ब्लड कनेक्शन" के फरिश्ते
अभिषेक शर्मा
पत्रकार,वाराणसी / फैजाबाद

ठिठुरती सर्दियों में मैने वाराणसी के कुछ युवाओं को बीएचयू अस्पताल में ब्लड डोनेट करने जाते देखा।आपस में हंसी मजाक से अचानक मूड बन जाता है जल्द से जल्द ब्लड डोनेशन चेयर पर बैठ कर ब्लड डोनेट करने का। इनसे बात करने पर पता चला कि इनको किसी से पैसे नहीं लेना, किसी संस्था से सर्टिफिकेट नहीं लेना और ब्लड डोनेट करने के बाद दूसरों से यह बोलना "ब्लड कनेक्शन टूटने न पाए"। दरअसल ये युवा "ग्रुप ऑफ ब्लड कनेक्शन अभियान" के सदस्य हैं। इनका मकसद जरूरतमंदों को अस्पताल में समय से खून उपलब्ध करवाना है । इसके लिए सारे सदस्य एक दूसरे से संपर्क में रहते हैं, जैसे ही इनकी जानकारी में कहीं कोई ब्लड डोनेशन की डिमांड आती है वैसे ही झटपट एक दूसरे को संपर्क कर तत्काल पहुंच की स्थिति में होने वाले को भेज दिया जाता है किसी की जिंदगी बचाने। अच्छी बात तो ये है कि ये अभियान वाराणसी से शुरु होकर ब्लड डोनेशन के लिए एक राष्ट्रीय अभियान का रूप ले रहा है।

 
               ब्लड कनेक्शन अभियान की संस्थापक वंदना रक्तदान करते हुए

 

कारवां जुड़ता चला गया


अभियान की शुरुआत करने वाली वंदना सिंह जो अभी एमएसडब्ल्यू की छात्रा हैं बताती हैं कि चार साल पहले एक जरूरतमंद को ब्लड डोनेट करने गई थीं। उस दौरान पीडि़त की मां मेरा पैर पकड़ कर रोने लगी। तभी से मुझे यह विचार आया कि अब कोई मां किसी के पैर न पकड़े, आंसू न बहाए। हर जरूरतमंद को समय से खून मिले यही चाहती हूं, यही अभियान अब देश में नए रिश्ते जोड़ रहा है।


"ब्लड कनेक्शन" का ई मेल संपर्क
groupofbloodconnecting@gmail.com



सदस्य करते हैं काम


वंदना बताती हैं कि हमारी टीम चौबीसों घंटे सक्रिय रहती है। जब भी जरूरत होती है नजदीकी सदस्य मौके पर जाकर जरूरतमंद की मदद करते हैं। हमारी टीम में सभी युवा हैं और आगे की रणनीति के लिए हम समय समय पर बैठक भी आयोजित करते हैं।


           रक्तदान करतीं अभियान की सदस्याएं


"ब्लड कनेक्शन" की Website भी देखें
: www.gbc.ind.in



"ब्लड कनेक्शन" का Whats app और Helpline No:07379505807



टीम करती है ब्लड डोनेशन


किसी ब्लड बैंक से ब्लड लेने की पहली शर्त होती है बदले में ब्लड डोनेट करना मगर कभी कभी बीमार और तीमारदार की शारीरिक स्थिति खून दे पाने की नहीं होती। इसके अतिरिक्त अज्ञात मरीजों के लिए भी यह टीम ब्लड डोनेट करती है जिनके कोई तीमारदार या परिजन नहीं होते।



"ब्लड कनेक्शन" का फेसबुक पेज-https://m.facebook.com/profile.php?id=596713483709895



सोशल मीडिया प्लेटफार्म का प्रयोग



फेसबुक और वाट्सएप के जरिए सारे सदस्य एक दूसरे से संपर्क में रहते हैं। जैसे ही अस्पताल से किसी मरीज के लिए खून की डिमांड हुई वैसे ही सदस्य मौके पर पहुंच के तत्पर हो जाते हैं। उनकी सेवा का पुरुस्कार बस इतना है कि आज का वो हीरो है और इसका सुबूत वो अपनी ब्लड डोनेट करने की तस्वीर के साथ पोस्ट करे। इस तस्वीर को अभियान के फेसबुक पेज पर ब्लड डोनेट करने वाले के नाम और जरूरतमंद मरीज की जानकारी के साथ पोस्ट किया जाता है। बस यही सेवा का फल इनके लिए होता है कि लोग सेवा भाव की सराहना करें और ऐसे ही दूसरों की जान बचाने के लिए सामने आएं और पहल करें। काशी से शुरू यह अभियान अब देशव्यापी स्वरूप ले रहा है। अब आपस में परिचित लोग वाट्स एप पर ग्रुप बनाकर कई राज्यों में भी रक्तसंबंधों को प्रगाढ़ता देने के लिए आगे आ रहे हैं।

 

 

"ब्लड कनेक्शन" सेवा अभियान पर अपनी राय लिखिये ।


 Yes      No
   Comments
शिवानी
अभियान की जितनी तारीफ की जाए कम है....
 
@Rv
Its fantastic work by Gbc members ..... Good to see such work is happening in our india , specially by YOUTHS
 
Priti dubey
Plz mujhe bhi apke iss abhiyaan ka member bnna h........ mujhe bhi ek mauka chahiye kuch krne ko
 
Neha
Great job done by Vandana.
 
नाम में क्या रखा है 0+🎁🎁
बहुत ही पवित्र दान है रक्तदान। GBC की इस मुहीम में हर युवा और युवतियों को शामिल होना चाहिये।
 
नाम में क्या रखा है 0+🎁🎁
बहुत ही पवित्र दान है रक्तदान। GBC की इस मुहीम में हर युवा और युवतियों को शामिल होना चाहिये।