Monday, December 18, 2017
बाढ़ ने ली 536 गायो की जान
डा.रंजन दवे
राजस्थान ब्यूरो प्रमुख , न्यूज फॉर ग्लोब

जालोर की पथमेड़ा गोशाला में बाढ़ का पानी घुसने से अब तक 536 गायो की
मौत की आधिकारिक पुष्टि हुई है। ये गौशाला हिंदुस्तान की देसी नस्ल की गायों की  सबसे बड़ी गौशाला के रूप में विख्यात है।



इस गौशाला में तकरीबन 2 लाख से अधिक गोधन है और माना जाता है की तकरीबन एक करोड़ रुपए से अधिक का इन के रख-रखाव का खर्चा है ।



जालौर के पांचना बांध की दीवार के टूट जाने के बाद संपूर्ण क्षेत्र में उत्पन्न बाढ़ के हालात ने इस गौशाला को भी अपनी जद में लिया । जहां गोवंश को भारी नुकसान हुआ है ।



सैकड़ों की संख्या में रेत के मलबे में गायों के शव दबे पड़े हैं और अन्य बची शेष गायों के समक्ष चारे पानी का संकट भी अब उत्पन्न हुआ है ।


हालांकि जालौर सिरोही क्षेत्र के सांसद देवजी भाई पटेल ने इस गौशाला का दौरा तो किया है लेकिन हालात बड़े विकट बन पड़े हैं जिनको सामान्य होते अभी समय लगेगा ।


आपको बता दें की देशी गाय के शुद्ध घी और देसी थारपारकर नस्ल की  गाय के दूध से ही बने अन्य उत्पादों के लिए पथमेड़ा गौशाला का पूरे विश्व में विशिष्ट स्थान है।

 

 

इस त्रासदी पर अपनी प्रतिक्रिया लिखिये ।

 Yes      No
   Comments